शोध: क्या 5G परीक्षण है भारत में COVID-19 की दूसरी लहर का कारण?

भारत और पूरा विश्व इस समय कोरोनावायरस महामारी की दूसरी भयंकर लहर की चपेट में है | भारत में दूसरी लहर पिछले साल के मुकाबले ज्यादा गंभीर और विकराल रूप से फ़ैल रही है | पहली लहर के मुकाबले यह दूसरी लहर ज्यादा प्राणघातक और विनाशकारी है इस बार मौत का आंकड़ा काफी ज्यादा है | ऐसे में तरह-तरह के दुष्प्रचार भी फैलाये जा रहे है| कुछ लोग भारत में इस कोरोनावायरस की दूसरी लहर का कारण 5G टेस्टिंग को भी बता रहे हैं , इस मामले में अखबार की एक कटिंग व्यापक रूप से लोगों द्वारा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स में साझी की जा रही हैं, जिसमे दवा किया गया है कि 5G टावरों के परीक्षणों ने भारत में कोविड-19 की दूसरी लहर पैदा है |

5G Towers Testing Claim

उपरोक्त समाचार पत्र क्लिपिंग में दावा किया गया है कि भारत में दूसरी लहर का असली कारण 5G Towers का परीक्षण है। इसमें आगे बताया गया है कि हवा के संपर्क में आने पर 5G टावरों के कारण होने वाला विकिरण जहरीला हो जाता है इसमें आगे बताया गया है की इन 5G टावर्स में बड़ी संख्या में रेडिएशन विकिरण निकलती हैं जो हवा में मिलके उसे जहरीला बना देती हैं, और इसके कारण लोगों को सांस लेने में तकलीफ होती है |

दावा 1: 5G टावरों के परीक्षण से भारत में कोरोनावायरस की दूसरी लहर पैदा हुई है।

तथ्य: 5G टावरों के परीक्षण और भारत में COVID-19 के प्रसार के बीच किसी भी कारण और सहसंबंध को साबित करने के लिए कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। इसलिए पोस्ट में किया गया दावा FALSE है।

अभी तक इसका कोई ठोस वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है जो इस तथ्य को सिद्ध करता है अतः हमारी पड़ताल में यह दावा बिलकुल गलत सिद्ध होता है

You Might alos Like
Spread the love

Leave a Comment

twenty + 15 =